Samay Prabandhan Essay Help

at  Tuesday, June 14, 2016

दोस्तों, मुझे नहीं मालूम कि आपने अभी तक समय के बारे में क्या सोच रखा है और आप समय को क्या समझते हैं, लेकिन मुझे अपने बारे में मालूम है कि मैंने इसके बारे में क्या सोच रखा और मैं इसे क्या समझता हूं। मैं यह मानता हूं कि जीवन समय से बनता है, इसलिए समय ही जीवन है। तो आईये जानते है जीवन में समय का महत्व

आपने एक शब्द सुना या पढ़ा होगा- 'स्वयंभू'। 'भू' का अर्थ होता है- होना, जन्म लेना। इस प्रकार 'स्वयंभू' का अर्थ हुआ- जिसने स्वयं जन्म लिया हो। इस शब्द का उपयोग हम ब्रह्म के लिए करते हैं, ईश्वर के लिए करते हैं, क्योंकि उसने स्वयं जन्म लिया है। उसके कोई माता-पिता नहीं हैं।


इस आलेख को आगे लिखने से पहले; मैं आपसे एक simple सा सवाल पूछना चाहता हूं। वह सवाल यह है कि 'क्या आप बता सकते हैं कि समय के माता-पिता कौन हैं?' यानी कि उसका जन्म कैसे हुआ है? यानी कि समय कैसे बना है? हमें जन्म देने का श्रेय हमारे माता-पिता को है। चट्टाने टूटकर मिट्टी बन जाती हैं। चीज़ों को रगड़ने से गर्मी पैदा होती हैं। आग जलने से प्रकाश का जन्म होता है। हरी पत्तियां ऑक्सीजन बनाती हैं और कोयले को जलाने से कार्बन डाइआक्साइड गैस निकलती है। यानि कि दुनिया में जितनी भी वस्तुएं हैं, वे सब बनाई जा सकती हैं, लेकिन क्या आप मुझे उन वस्तुओं के नाम बता सकते हैं, जिनके मिला देने से ठीक उसी प्रकार का समय बन जाता हो, जिस प्रकार हाइड्रोजन और ऑक्सीजन को मिला देने से पानी बन जाता है। आप कितना भी सोचिए, मेरा विश्वास है कि आप सफल नहीं होंगे। तो क्या इसका मतलब यह नहीं हुआ कि समय का जन्म भी स्वयं ही हुआ है और इस प्रकार यह भी स्वयंभू है। याद रखिए, स्वयंभू का मतलब है- ब्रह्म। यानी कि यदि समय ब्रह्म से श्रेष्ठ नहीं है, तो कम से कम उसके बराबर तो है ही।

वैसे सच तो यह है कि समय ब्रह्म से भी श्रेष्ठ है, लेकिन हमारे philosophers को शायद समय की यह श्रेष्ठता रास नहीं आई होगी। इसीलिए उन्होंने 'महाकाल' शब्द गढ़ा। 'काल' यानी समय और महाकाल यानी बड़ा समय या समय से भी बड़ा। आप जानते हैं कि मध्यप्रदेश के उज्जैन में जो शिवलिंग है, उसे 'महाकाल' कहा जाता है, शिव नहीं। तो क्या आपको नहीं लगता कि यदि काल ब्रह्म के बराबर नहीं होता, तो फिर उसी शब्द के आगे 'महा' लगाकर शिव की कल्पना क्यों की जाती।

A Quote of Steve Jobs on Time 

मेरी जिन्दगी की सबसे प्रिय वस्तु की कोई कीमत नहीं। उसे खरीदा नहीं जा सकता और यह स्पष्ट भी है, हम सभी के पास जो सबसे कीमती संसाधन है; वह समय ही है।

फिर हम सिख धर्म के 'अकाल' शब्द को कैसे भुला सकते हैं- सत्श्री अकाल। अर्थात् ईश्वर ही सत्य है। यहाँ 'अकाल' का मतलब सूखे से नहीं है, बल्कि अकाल का अर्थ है - वह; जो काल से परे है।

याद रखिए कि समय से परे दुनिया में कोई भी नहीं है। भगवान श्रीराम ने सरयू में समाधि ली थी। भगवान श्रीकृष्ण एक बहेलिए के तीर से मारे गए थे। ईसा मसीह सूली पर चढ़ाये गए। गौतम बुद्ध, महावीर स्वामी और गुरू नानक देव को भी इस समय का ग्रास बनना पड़ा था। कोई भी परे नहीं है इससे। केवल एक ही इससे परे है और वह है ब्रह्म। इसलिए जब ईसा मसीह से पूछा गया था कि 'आपके प्रभु का राज्य कैसा होगा?' तब उन्होंने कहा था कि 'मेरे प्रभु के राज्य में समय नहीं होगा।'


जीवन में समय का महत्व (Importance of Time in Life)


एक-एक बूँद के एकत्रित रूप को विशाल सागर के रूप में देखा जा सकता है और जब एक-एक बूँद टपकती है तो बड़े-से-बड़ा बर्तन भी खाली हो जाता है। उसी प्रकार जीवन भी पल और क्षण के मिलने से बना होता है। हर पल, हर क्षण जो बीत जाते हैं, वे फिर कभी भी वापस नहीं आते हैं। समय बीतते हुए अनुमान नहीं होता है, लेकिन इन क्षणों के बीतने से दिन, सप्ताह, मास और वर्ष बीतते जाते हैं- 'दिवस जात नहीं लागत बारा‘ रामचरितमानस की यह पंक्ति समय के बीतने की गती बताती है। अतः समय के बीतने के साथ ही जीवन के दिन बीत जाते हैं। जो लोग समय की इस गति को नहीं समझते हैं और इसके महत्व को नहीं जानते हैं, समय को नष्ट करते हैं, समय भी उन्हें नष्ट कर देता है।

अंग्रजी की एक पंक्ति के अनुसार "Time and Tide wait for no man" स्पष्ट है कि समय निरंतर बीतता चला जाता है। किसी भी कारण से उसकी गति मंद नहीं होती और न रूकती है। जीवन में यदि किसी वस्तु की हानि होती है तो उसकी क्षति पूर्ति की जा सकती है, लेकिन समय की क्षति पूर्ति कभी संभव नहीं हो सकती। समय एक ईश्वरीय वरदान है - Time is the gift of god!

Also Read: Time पर Top 29 सुविचार - समझे समय और उसके महत्व को



आप देख रहे हैं न समय के महत्व और उसकी प्रबलता को, उसकी शक्ति को और उसके चरित्र को। हर कोई घबराता है समय से, क्योंकि हर कोई है इसकी पकड़ में; फिर चाहे वह राजा हो या रंक, मालिक हो या नौकर, दानव हो या देवता। तो ऐसी स्थिती में यदि हम समय को ईश्वर मान लें और समय की आराधना को ही ईश्वर की आराधना मान लें, तो क्या उसमें कुछ गलत होगा? मेरी समझ से तो बिल्कुल भी गलत नहीं होगा, बल्कि यही सबसे बड़ा सच होगा। भगवान किसे कहते हैं? जो आपके भाग्य को बना दे, वही भगवान है। जिसका भाग्य अच्छा है, वह भाग्यवान कहलाता है, लेकिन क्या आपने कभी यह सोचने के लिए वक्त निकाला है कि भाग्य बनता कैसे है? जब आप किसी ज्योतिषी के पास जाते हैं, तो या तो आप अपने जन्म का समय बताते हैं या फिर उसे आप अपना हाथ दिखाते हैं। आपके जन्म के समय के आधार पर वह आपकी कुण्डली बना देता है कि आपकी जिन्दगी कैसी होगी। देखा आपने समय की शक्ति को। इतना बलवान है समय। जिस क्षण आप जन्म लेते हैं, वही आपके भाग्य का निर्धारण करने वाला बन जाता है।


समय-प्रबंधन का महत्व (Importance of Time Management)

एक सफल career और व्यक्तिगत जीवन के लिए समय-प्रबंधन का बड़ा महत्व हैं। यह हमें सिखाता है, कि कैसे हम समय को effective रूप से manage कर उसका समूचीत उपयोग कर सकते है (Time-Management teaches us to manage our time effectively.)।

यहाँ हम समय-प्रबंधन इतना महत्वपूर्ण क्यों है, इस बात को बताने का प्रयास कर रहे है, जिससे आप अपने समय का और बेहतर प्रयोग कर सकें:

  1. समय एक ऐसा विशेष स्रोत है, जिसे न तो हम भविष्य के लिए सुरक्षित रख सकते है और न ही बचा सकते है। सभी के पास हर दिन मात्र 24 घंटे ही होते हैं और अगर हम इन बहूमुल्य घंटों का अच्छे ढ़ंग से प्रयोग नहीं कर पाते तो फिर हम इन्हें चाह कर भी पुनः प्राप्त नहीं कर सकते।

  2. समय-प्रबंधन हमारी प्राथमिकताओं (priorities) को तय करने में मदद करता है।

  3. ज्यादतर लोग यह महसूस करते हैं कि उनके पास काम बहुत हैं लेकिन उन्हें पुरा करने के लिए प्रयाप्त समय नहीं। वे अपने दूसरों से खराब रिस्तों, खराब स्वास्थय, अपनी बुरी आर्थीक स्थिीती, व्ययाम न कर पाने आदि के लिए time को blame करते हैं।

  4. लेकिन, एक समझदारी पूर्वक किए गए time-management से आप जिस चीज़ को चाहते या आपको जिस काम को करने की जरूरत है उसके लिए असानी से time निकाल सकते है।

  5. समय-प्रबंधन आपको पूरी तरह सजग हो, चुनाव करने में मदद करता है, जिससे आप उन कामों को अधिक से अधिक समय दे सके जो महत्वपूर्ण हैं और आपके लिए valuable भी।

  6. आज की दुनिया ध्यान बटाने वाली चीजों से भरी पड़ी हैं। इसलिए किसी के लिए भी किसी एक काम पर विबने करना कठिन होता जा रहा है और हम गैरजरूरी कामों में अधिक समय बर्बाद करने लगे हैं। कोई भी काम करने से पहले अपने आप से पुछे - क्या आप जो कर रहे है या करने वाले है, वह आपकी life में कुछ value add करने वाला है? क्या आप जिस काम को करने के लिए जो समय लगा रहे है, उसे पूरे मन से कर रहे है या बस यू ही time-pass.

विद्यार्थी जीवन में समय का महत्व (Importance of Time in Student Life)

किसान अपने खेत में अलग-अलग ऋतुओं में अलग-अलग प्रकार की फसलें उगाता है। यदि बीज बोने का निश्चित समय किसी भी प्रकार से बीत जाता है तो वह फसल पैदा नहीं हो सकती। ठीक यही दशा student के life की भी होती है। विद्यार्थी जीवन वह समय है, जब मनुष्य सारे जीवन-भर के लिए तैयार होता है। इसलिए इस अवस्था में time के value को जानना और उसका उपयोग करना उसके लिए सबसे बहुत आवश्यक होता है। उसकी जीवन रूपी भवन की नींव इसी समय बनती है। जैसे एक बहुत बड़ी पुस्तक को लिखने के लिए एक-एक अक्षर लिखना पड़ता है और तब पुस्तक लिखी जाती है। इसी प्रकार विद्यार्थीयों को एक-एक सैकिंड का उपयोग कर इतनी बड़ी किताबों को पढ़ना पड़ता है, तभी वह उसके ज्ञान को ग्रहण कर सकता है। अच्छे विद्यार्थी अपना समय प्रत्येक कार्य के लिए निश्चित कर देते हैं। विद्यार्थीयों को पढ़ने के साथ-साथ खेलना भी चाहिए, परंतु व्यर्थ घूमना, बेकार बैठ कर गप्पें मारना, अधिक सोना उसके लिए कभी लाभदायक नहीं हो सकता है। उसे शहद की मक्खी की भाँति कार्य करना पड़ता है। छोटे-छोटे पराग कणों से वह कितना शहद बनाती है। ऐसे ही विद्यार्थी छोटे-छोटे पलों का उपयोग करके महान बन जाता है। विद्यार्थी के लिए तो इन क्षणों का महत्व जीवन के निर्माण में सिद्ध होता है। समय का उपयोग करने वाले विद्यार्थी ही सफल होते हैं।

समय अमूल्य धन है और समय ही जीवन है। इसलिए जीवन का उपयोग समय के सदुपयोग पर निर्भर करता है।

दोस्तों, आपको यह आलेख - समय का महत्व, कैसा लगा. अपने विचार कॉमेंट के माध्यम से जरूर बताए।

समय प्रबंधन का तात्पर्य समय के कुशलतापूर्वक प्रयोग से है ताकि इसका सबसे ज्यादा फायदा हो सके। यह जितना आसान लगता है उतना ही इस तकनीक का पालन करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। जो समय का प्रबंधन कैसे किया जाता है यह सीख गया तो वह जीवन में लगभग सबकुछ हासिल कर सकता है।

ऐसा कहा जाता है कि सफलता की दिशा में पहला कदम कुशल समय प्रबंधन है। जो अपने समय की ठीक से व्यवस्था नहीं कर सकता है वह हर चीज में विफल हो जाता है। कुशल समय प्रबंधन आपकी उत्पादकता बढ़ाता है, काम की गुणवत्ता सुधारता है और तनाव कम करने में भी मदद करता है। इस विषय पर आपकी मदद करने के लिए हमने समय प्रबंधन पर विभिन्न शब्द सीमा के निबंध उपलब्ध करवाएं हैं।

समय प्रबंधन (समय का सदुपयोग) पर निबंध (टाइम मैनेजमेंट एस्से)

You can get here some essays on Time Management in Hindi language for students in 200, 300, 400, 500 and 600 words.

समय प्रबंधन पर निबंध 1 (200 शब्द)

समय प्रबंधन समय का कुशलतापूर्वक उपयोग करने की क्षमता है जिससे अधिक से अधिक फ़ायदा मिले। ऐसा कहा जाता है कि यदि आप इस तकनीक को हासिल कर लेते हैं तो आप जीवन में कुछ भी हासिल कर सकते हैं हालांकि कुशल समय प्रबंधन जितना आसान लगता है उतना आसान है नहीं। कुशल समय प्रबंधन में बहुत अधिक प्रयास लगता है। आत्म-अनुशासन आपके समय को अच्छी तरह से प्रबंधित करने की कुंजी है।

समय प्रबंधन के हुनर से आपको निम्नलिखित मदद मिलती है:

  • यह आपको कठिन काम करने के लिए प्रेरित करता है।
  • यह आपकी उत्पादकता को बढ़ाता है।
  • इससे आपको कम प्रयासों से अधिक फ़ायदा प्राप्त करने में मदद मिलती है।
  • यह संतुष्टि की भावना देता है।
  • यह आपके तनाव के स्तर को कम करता है।
  • यह आपके काम की गुणवत्ता को बढ़ाता है।

निम्नलिखित उपायों की मदद से आप अपना समय को कुशलतापूर्वक प्रबंधन कर सकते हैं:

  • दिन के दौरान पूरा करने वाले कार्यों की एक सूची तैयार करें।
  • अपने कार्यों को प्राथमिकता दें और उनमें से प्रत्येक को पूरा करने के लिए समय निर्धारित करें।
  • अपने समय सारणी पर सावधानी रखें।
  • कार्यों के बीच में अवकाश लें।
  • प्रत्येक दिन 7-8 घंटे नींद लेना मत भूलें।

इन युक्तियों से न केवल छात्रों और काम करने वाले पेशेवरों को अपने कार्य को कुशलता से प्रबंधन करके उत्पादकता में वृद्धि होती है बल्कि घर से काम करने वालों को अधिक संगठित रहने में मदद मिलती है।

समय प्रबंधन पर निबंध 2 (300 शब्द)

समय प्रबंधन से तात्पर्य समय को सही तरीके से उपयोग करने की योजना और प्रबंध की तकनीक है। किसी भी क्षेत्र में सफलता हासिल करने के लिए अपने समय की ठीक से व्यवस्था करना आवश्यक है। समय प्रबंधन के महत्व और किस तरह से अपनी समय-सारिणी का पालन करें उन तकनीकों की हमनें यहां विस्तृत रूप से व्याख्या की है।

समय प्रबंधन का महत्व

जब आपके पास कोई योजना हो तो आपको बस इसे सही तरीके से लागू करना है। आपको कार्यों के बीच क्या करना है क्या नहीं करना है इसके लिए समय बर्बाद करने की आवश्यकता नहीं है बल्कि आगे क्या किया जाए ताकि उत्पादकता का स्तर बढ़े यह सोचने की आवश्यकता है।

जब आप कोई लक्ष्य निर्धारित करते हैं तो आपका प्रेरणा स्तर में स्वाभाविक रूप से वृद्धि होना लाज़मी है। अपने लक्ष्य को पाने के लिए कड़ी मेहनत करें ताकि आप अपने आप को साबित कर सकें।

समय प्रबंधन समय की सही योजना बनाने के बारे में है। आप अपने काम की योजना बनाते समय सभी तरह की अच्छाई और बुराई का मूल्यांकन करें जिससे आपको बेहतर निर्णय लेने में मदद मिले।

  • काम की गुणवत्ता में वृद्धि

अगर आप यह देखेंगे कि अपने दिन के दौरान आपको क्या करना है और क्या करने की जरुरत है तो योजना बनाने का भाग अपने आप ही पूरा हो जाएगा। आपको केवल अपने काम पर ध्यान देने की ज़रूरत है जिससे आपके परिणाम की गुणवत्ता में बढ़ोतरी हो।

समय प्रबंधन आपको कम समय में और कम प्रयासों के साथ अपने कार्यों को पूरा करने में मदद करता है। इस प्रकार यह तनाव से निपटने का भी एक शानदार तरीका है।

समय प्रबंधन की युक्तियाँ

आपके समय की कुशलतापूर्वक व्यवस्था करने में आपकी सहायता करने के लिए यहां कुछ त्वरित युक्तियां दी गई हैं

  1. हर सुबह जो काम निपटने हैं उनकी सूची तैयार करें।
  2. अपने कार्यों को प्राथमिकता दें।
  3. अपने प्रत्येक कार्य को पूरा करने के लिए समय निर्धारित करें।
  4. अपनी सूची पर नज़र रखें और कार्यों को पूरा करने के बाद सूची से मिलान करते रहे।
  5. अपने कार्यों के बीच में ब्रेक लें।
  6. प्रत्येक दिन कुछ समय के लिए ध्यान लगाए।
  7. स्वस्थ खाएं और उचित आराम करें।

निष्कर्ष

समय प्रबंधन हर व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण है चाहे आप एक छात्र, गृहिणी, व्यवसायिक व्यक्ति या काम कर रहे पेशेवर ही क्यों ना हो-यदि आप अपने समय को कुशलतापूर्वक प्रबंधित करने में सक्षम हैं तो आप अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने से पीछे नहीं रहेंगे।

समय प्रबंधन पर निबंध 3 (400 शब्द)

समय प्रबंधन अलग-अलग गतिविधियों पर खर्च किए जाने वाले समय की मात्रा का निर्णय करने और नियंत्रित करने की कला है। यह उत्पादकता बढ़ाने और संगठित रहने की महत्वपूर्ण कुंजी है। यही कारण है कि समय प्रबंधन जीवन के सभी क्षेत्रों से जुड़े लोगों के लिए आवश्यक है और यह आपके लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपकी सहायता कर सकता है।

समय प्रबंधन: सफलता की दिशा में पहला कदम

ऐसा कहा जाता है, "यदि आप अपना समय प्रबंधन नहीं कर सकते हैं, तो आप अपने जीवन के किसी अन्य हिस्से की व्यवस्था नहीं कर पाएंगे"। इसलिए सफलता की दिशा में पहला कदम कुशलतापूर्वक अपने समय का प्रबंधन करना है। अगर आप अपने समय को व्यवस्थित करने की कला में महारथ हासिल कर लेते हैं तो आप अपने कार्यों को बेहतर ढंग से संभालने में सक्षम होंगे। ऐसा इसलिए है:

  • समय प्रबंधन करना बेहतर निर्णय लेने में मदद करता है।
  • यह प्रेरणा स्तर को बढ़ाता है।
  • यह आपको अधिक उत्पादकता प्राप्त करने में सक्षम बनाता है।
  • जब आप समय प्रबंधन की तकनीक पर काम करते हैं तो काम की गुणवत्ता में वृद्धि होती है।
  • कुशल समय प्रबंधन आपके तनाव के स्तर को कम करने में मदद करता है।

कुशल समय प्रबंधन के लिए सुझाव

यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपके समय को कुशलता से प्रबंधन करने में आपकी सहायता कर सकते हैं:

कलम और काग़ज़ उठाकर हर दिन सुबह आप पूरा करने वाले सभी आवश्यक कार्यों को लिख ले।

  • अपने कार्यों को प्राथमिकता दें

अगर आपने अपने सभी कार्य कागज़ पर लिख लिए हैं तो तुरंत ही उन्हें प्राथमिकता दें। अपने कार्यों को सही क्रम में पूरा करने के महत्व की अनदेखी न करें।

अपने समय को कुशलतापूर्वक प्रबंधन करने के लिए आपको अपने द्वारा लिखित प्रत्येक कार्य को पूरा करने के लिए समय निर्धारित करना होगा।

कार्यों को पूरा करते रहें जैसा आप उन्हें पूरा करते आए हैं। यह सफ़लता की ख़ुशी के साथ-साथ आपको कठिन काम करने के लिए प्रेरणा देता है।

लगातार एक के बाद एक कार्य न करें। इससे आप निराशा महसूस कर सकते हैं जिससे आपकी उत्पादकता में बाधा आ सकती है। इसलिए अक्सर कार्यों के बीच में विश्राम लेने का सुझाव दिया जाता है।

  • अच्छी तरह से सोयें और स्वस्थ खाएं

यदि आप हर रात अपनी 7-8 घंटे की नींद पूरी नहीं करते हैं तो आप काम पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाएंगे जिससे समय प्रबंधन प्रभावित होगा। संतुलित आहार समय प्रबंधन में बहुत बड़ा किरदार अदा करता है।

छिपा हुआ रुस्तम माने जाने वाली कसरत समय प्रबंधन के लिए बहुत उपयोगी है। यह न केवल आपको फिट रखती है बल्कि तनाव के स्तर को कम करती है तथा ध्यान केंद्रित करने के लिए आपकी शक्ति को बढ़ाती है। इससे आप अपने समय का प्रबंधन अच्छी तरह से कर सकते हैं और अपने कार्यों को कुशलतापूर्वक पूरा कर सकते हैं।

निष्कर्ष

हालांकि समय को सही तरीके से प्रबंध करना बहुत मुश्किल है पर कुछ प्रयासों के साथ इस कला को हासिल किया जा सकता है। उपर्युक्त दी गई युक्तियां आपको इस दिशा में मदद कर सकती हैं।


 

समय प्रबंधन पर निबंध 4 (500 शब्द)

समय प्रबंधन अपने समय को कुशलतापूर्वक प्रबंध करने से संबंधित है ताकि एक व्यवस्थित प्रणाली से अपने सभी दैनिक कार्यों को पूरा किया जा सके। जो अपने समय-सारिणी का पालन सही तरीके से कर सकता है वो लगभग किसी भी कार्य को सफलतापूर्वक पूरा कर सकता है। समय प्रबंधन के महत्व पर बार-बार जोर दिया गया है। अपने समय को व्यवस्थित करने के साथ-साथ इससे जुड़े कुछ प्रभावी सुझाव इस प्रकार हैं:

समय प्रबंधन का महत्व

किसी महान इंसान ने सही ही कहा है, "या तो आप दिन को चलाते हैं या दिन आपको चलाता है।" उपरोक्त तथ्य जीवन के हर क्षेत्र के लोगों के लिए सच है चाहे वह छात्र, कॉर्पोरेट कर्मचारी या गृहिणी ही क्यों ना हो। आपको अपने कार्य को व्यवस्थित रूप से पूरा करने के लिए अपना समय प्रबंधन करना ज़रूरी है। यही कारण है कि समय प्रबंधन इतना महत्वपूर्ण क्यों है:

आपका समय सीमित है – यदि यह एक बार गुज़र गया तो यह वापस कभी नहीं आएगा। इसलिए यह आपके लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है।

जब आप उपलब्ध समय से पहले अपने कार्यों की योजना बनायेंगे तो आप निश्चित रूप से बेहतर निर्णय लेने तथा अपने काम को और अधिक कुशलतापूर्वक संभालने में सक्षम होंगे।

जब आपके पास बहुत सारे कार्य हो लेकिन यह पता नहीं हो कि कौन सा कार्य कहां और कैसे करना है तो तनाव और चिंता बढ़ जाती है। यदि आप एक सूची तैयार करते हैं और अपने कार्यों को प्राथमिकता दें तथा उन्हें समय पर पूरा करने की योजना बना लें तो आप तनाव से निपटने में सक्षम होंगे।

आगे क्या करना है इसके सोचने और नियोजन में बहुत समय बर्बाद होता है। जब आप अपने समय को अधिक कुशलता से प्रबंधन करने के लिए एक कार्यक्रम तैयार करते हैं तो आप पहले से ही जान जाते हैं कि आगे क्या और कैसे करना है। इस प्रकार आपके कार्यों में अधिक उत्पादकता देखने को मिलती है।

कुशलता से समय का सदुपयोग करने के लिए सुझाव

नीचे दिए गए सुझावों की मदद से आप अपने समय का कुशलता से प्रबंधन कर सकते हैं:

अपने दिन की शुरुआत थोड़ी जल्दी करना हमेशा बेहतर होता है ताकि सभी तरह की गतिविधियों पर देने के लिए आपके पास सही अवधि का समय हो। हालांकि इसके लिए ज़रूरी नहीं कि आप अपनी नींद से समझौता करें। आपके लिए प्रत्येक दिन 7-8 घंटे नींद लेना जरूरी है।

समय प्रबंधन का सबसे अच्छा तरीका है एक सूची तैयार करना जिसमें सुबह ही आप अपने दिन की योजना बना ले कि आज आपको क्या करना है। अपनी प्राथमिकता के आधार पर अपने कार्यों की सूची बनाए और एक के बाद एक को पूरा करें।

  • अपने कार्य के लिए समय निर्धारित करें

अपनी सूची में प्रत्येक कार्य के लिए समय निर्धारित करें और सुनिश्चित करें कि आप उन्हें उसी निश्चित समय अवधि के भीतर पूरा कर लेंगे।

एक कार्य के तुरंत बाद दूसरा कार्य मत करें। खुद को बीच में विश्राम के लिए कुछ समय दें और अगले काम को अधिक प्रेरणा के साथ शुरू करें।

दिन के दौरान अपने काम में सक्रिय रहने के लिए संतुलित आहार लेना बहुत जरूरी है अच्छा भोजन खाएं ताकि काम पर आप अपना सौ फ़ीसदी योगदान दे सकें।

निष्कर्ष

समय की व्यवस्था करना बोलना आसान है बजाए करने के। अपने लक्ष्य के प्रति केंद्रित रहने और अपने समय को कुशलता से प्रबंधन करने के लिए समर्पण और दृढ़ संकल्प की आवश्यकता है। यदि आप एक बार इस कला में महारथ हासिल कर लेते हैं तो आपको अपने कार्यों में सफ़लता मिलनी निश्चित हैं।


 

समय प्रबंधन पर निबंध 5 (600 शब्द)

समय प्रबंधन का आशय अपने समय की सही तरीके से व्यवस्था करने से है ताकि आप अपनी दैनिक कार्यों का सही फ़ायदा उठा सकें। ऐसा अक्सर कहा जाता है कि वह जो समय के प्रबंधन की कला सीख लेता है वह जीवन में कुछ भी कर सकता है। यही कारण है कि समय प्रबंधन आवश्यक है और जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े लोगों के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है।

हर क्षेत्र में समय प्रबंधन महत्वपूर्ण है

जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित लोगों के लिए समय प्रबंधन आवश्यक है। चाहे वह छात्र हो या गृहिणी, काम कर रहे पेशेवर, फ्रीलांसर या व्यवसायिक पेशेवर ही क्यों ना हो हर किसी को अपने कार्यों को सफलतापूर्वक अंजाम देने के लिए समय का प्रबंधन करना चाहिए। यहां इन सभी समूहों में से प्रत्येक समूह के लिए समय प्रबंधन के महत्व पर विस्तृत जानकारी दी गई है:

छात्रों के लिए समय प्रबंधन का महत्व

छात्र पूरे दिन में कई अलग-अलग गतिविधियों के बीच व्यस्त रहते है। पढ़ने के लिए स्कूल / कॉलेज जाने से लेकर खेल गतिविधियों में भाग लेने तक और स्व-अध्ययन में शामिल होने से लेकर अतिरिक्त अभ्यास गतिविधियों में भाग लेकर फिट रहने तक ऐसी कई गतिविधियां इस सूची में शामिल है। ऐसी स्थिति में यदि आप अपना समय की ठीक से व्यवस्था नहीं करते हैं तो आप किसी भी काम को कुशलता से नहीं कर पाएंगे।

व्यापार कार्मिक के लिए समय प्रबंधन का महत्व

अगर आप किसी व्यवसाय को शुरू करने की योजना बना रहे हैं तो अनुशासन पहली चीज है जिसे ध्यान में रखने की ज़रूरत है और अनुशासन के लिए पहला कदम समय का सम्मान करना है। अपने व्यवसाय में आप खुद मालिक होते हैं इसलिए आपके ऊपर ज्यादा जिम्मेदारियों का भार होता है बजाए किसी और के लिए काम करने के। सबकुछ कुशलतापूर्वक संभालने के लिए आपको अपने समय के संसाधनों को व्यवस्थित करके सब कुछ शुरू करना होगा।

गृहणियों के लिए समय प्रबंधन का महत्व

गृहणियां पूरे दिन परिश्रम करती हैं। उनके कार्य की सूची अंतहीन है और यदि उन्होंने अपने कार्यों का ठीक से प्रबंध नहीं किया तो उन्होंने काम खत्म करने में काफी समय लग सकता है। चूंकि उन्हें प्रत्येक दिन विभिन्न प्रकार के कार्य करने होते है इसलिए उन्हें सुबह ही एक सूची तैयार करने की ज़रूरत है। अपनी सूची में वे कार्यों को प्राथमिकता दे सकती हैं और उन्हें एक के बाद एक कर सकती है। इससे न केवल गृहणियां अपने समय को कुशलतापूर्वक प्रबंध कर सकेंगी बल्कि उनको अपने कार्यों में संतुष्टि की भावना भी महसूस होगी।

फ्रीलांसरों के लिए समय प्रबंधन का महत्व

फ्रीलांसरों जो विशेष रूप से घर से काम करते हैं उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे रोज़ की दिनचर्या की समय सारिणी बना ले और पूरी ईमानदारी से उसका पालन करें। अधिकांश व्यक्ति जो घर से काम करते हैं वे इसलिए इस विकल्प का चयन करते हैं क्योंकि उन्हें घर में कुछ और काम भी पूरे करने होते हैं। अपने व्यक्तिगत कर्तव्यों को और अपने व्यावसायिक कार्यों को एक साथ पूरा करना काफी चुनौतीपूर्ण है। दोनों कार्यों को साथ निपटाने की कुंजी अपने समय का कुशलतापूर्वक प्रबंधन है। दिन में उन घंटों की पहचान करें जब आप सबसे ज्यादा ध्यान केंद्रित कर सकते हैं ताकि अपने व्यावसायिक कार्यों को लगन से पूरा कर सकें।

पेशेवरों के लिए समय प्रबंधन का महत्व

बढ़ती प्रतिस्पर्धा के साथ काम करने वाले पेशेवरों को भी अपने क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करने की ज़रूरत है। उनसे उम्मीद की जाती है कि वे कुछ अलग करें ताकि अपने साथी कर्मिकों को पछाड़ उनकी छवि अपने वरिष्ठों की नज़र में अच्छी बनी रहे। पेशेवरों को अपने समय को निर्धारित करना अति आवश्यक जिससे वे न केवल अपने सामान्य काम के लिए समय निकल लें बल्कि कुछ अलग/नया करने के लिए भी उनके पास पर्याप्त समय हो।

कुशल समय प्रबंधन के सुझाव

  • जो काम ज़रूरी हो उनकी सूची बनाए
  • पहले महत्वपूर्ण कार्य समाप्त करें
  • केवल मौजूदा कार्य पर ध्यान केंद्रित करें
  • 'न' कहना सीखें
  • जैसे ही आप अपना काम शुरू करते हैं तो अपना फ़ोन एक तरफ रख दें
  • दिन में 7-8 घंटे की नींद ले
  • स्वस्थ आहार लें
  • नियमित रूप से व्यायाम करें

निष्कर्ष

दिखने में यह सरल दिखाई दे सकता है लेकिन कुशलतापूर्वक समय प्रबंधन किसी व्यक्ति के महान गुणों को प्रदर्शित करती है। आपको सदा अनुशासित रहने और लगातार अपने आप को याद करवाने की ज़रूरत है कि अपने कार्यों को समय पर सही ढंग से पूरा करना क्यों महत्वपूर्ण है?


Previous Story

मानव अधिकारों पर निबंध

Next Story

सेमिनार के लिए स्वागत भाषण

0 thoughts on “Samay Prabandhan Essay Help”

    -->

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *